Thursday, September 12, 2019

Pune-based Ayesha Siqilkar on her way to become a computer engineer after fighting against all odds


PUNE: Ayesha Asalam Siqilkar from Chakan , Pune, fought against her less fortunate circumstances and with her hard-work, she has secured a fully paid scholarship and is on her way to becoming a computer engineer.

Siqilkar, is a single child of her parents, based in Chakan. The family has a limited and uncertain family income of approximately Rs 3,000 per month. Her mother is a housewife and her father, an unskilled labourer running from pillar to post each day, taking up odd jobs coming his way to make ends meet and fund his daughter's education in a nearby municipal school.

Siqilkar became part of Project Nanhi Kali in 2010 when she was in Class IV at the municipal school. Thereon, her education related expenses were borne by the project and Siqilkar went on to complete her SSC , getting a proud 90 percent score. Having passed with flying colours, Siqilkar secured admission in the Government Polytechnic, Awasari (KH) College to pursue a Diploma certificate in Computer Engineering.

Siqilkar later applied for the Mahindra All India Talent Scholarship program offered by the KC Mahindra Education Trust and managed to get it due to her grades.

"My parents were doing their best for me. They have provided me with food, good health, love and care despite all financial odds. And it is my responsibility to do my best in my studies. To continue my studies, I need to work hard and secure scholarships that will take care of the costs associated with it," she said.

Saturday, May 4, 2019

इग्नू में शुरू होगा जीएसटी जागरूकता प्रोग्राम

अब विद्यार्थी जीएसटी की पढ़ाई करते नजर आएंगे। जुलाई में इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (इग्नू) विद्यार्थियों के लिए गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) प्रोग्राम शुरू करने जा रहा है। इसे जीएसटी जागरूकता प्रोग्राम का नाम दिया है। इग्नू यह प्रोग्राम बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज इंस्टीट्यूट लिमिटेड के सहयोग से शुरू करने जा रहा है। इसकी जानकारी लेने के लिए विद्यार्थी का 12वीं पास होना जरूरी है। प्रोग्राम को सात मॉडयूल में विभाजित किया जाएगा। इसके लिए ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। इग्नू द्वारा जीएसटी जागरूकता प्रोग्राम शुरू करने का उद्देश्य है कि युवा छोटे स्तर पर अपना व्यापार शुरू कर सकें। यह तभी संभव है, जब उन्हें जीएसटी की बारीकियां पता हों।
ऑनलाइन मोड पर चलेगा कोर्स
जीएसटी जागरूकता प्रोग्राम जुलाई व जनवरी में ऑनलाइन मोड पर चलाया जाएगा। यह प्रोग्राम छह माह में पूरा करना जरूरी है। ऑनलाइन पढ़ाया जाने वाला प्रोग्राम सात मॉड्यूल्स में बांटा जाएगा, जिसकी जानकारी भी ऑनलाइन मिल जाएगी।
विद्यार्थियों को मिलेगी यह जानकारी
- जीएसटी रिटर्न कैसे भरी जाती है।
- एक्साइज विभाग से जीएसटी नंबर कैसे लिया जाता है।
- जीएसटी रिफंड की प्रक्रिया क्या है।
- उत्पाद पर जीएसटी क्यों लगाया जाता है।

Friday, January 25, 2019